हाथरस कांड: राहुल गांधी बोले- UP सरकार नहीं कर पाएगी मनमानी, पीड़िता साथ पूरा देश खड़ा

0
3

फ़ौजि़या अफ़ज़ाल संवाददाता: नई दिल्ली

हाथरस कांड में उत्तर प्रदेश सरकार को घेरने के बाद कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी ने पीड़िता के परिवार से मुलाकात की. करीब एक घंटे की हुई इस मुलाकात में कांग्रेस के दोनों नेताओं ने परिवार का हाल जाना और सांत्वना दी. इसके बाद राहुल और प्रियंका ने ट्वीट के जरिए योगी सरकार पर प्रहार किए. राहुल गांधी ने कहा कि यूपी सरकार चाह कर भी मनमानी नहीं कर पाएगी, क्योंकि अब इस देश की बेटी को इंसाफ दिलाने के लिए पूरा देश खड़ा है.

राहुल गांधी ने कहा कि मैं हाथरस के पीड़ित परिवार से मिला और उनका दर्द समझा. मैंने उन्हें विश्वास दिलाया कि हम इस मुश्किल वक्त में उनके साथ खड़े हैं और उन्हें न्याय दिलाने में पूरी मदद करेंगे. वहीं प्रियंका गांधी ने उन मांगों और सवालों को ट्वीट किया जिनका जवाब पीड़ित परिवार सरकार से मांग रहा है.

प्रियंका गांधी ने कहा कि हाथरस के पीड़ित परिवार के 5 सवाल हैं. सुप्रीम कोर्ट के जरिए पूरे मामले की न्यायिक जांच हो. हाथरस के DM को सस्पेंड किया जाए और किसी बड़े पद पर नहीं लगाया जाए. हमारी बेटी के शव को बगैर हमसे पूछे पेट्रोल से क्यों जलाया गया? हमें बार-बार गुमराह किया, धमकाया क्यों जा रहा है? हम इंसानियत के नाते चिता से फूल चुनकर लाए मगर हमें कैसे माने कि यह शव हमारी बेटी का है भी या नहीं? प्रियंका गांधी ने कहा कि इन प्रश्नों के उत्तर पाना इस परिवार का हक है और यूपी सरकार को जवाब देना पड़ेगा.

इससे पहले राहुल और प्रियंका गांधी ने जब पीड़ित परिवार से मुलाकात की तो उनको 10 लाख रुपये का चेक दिया. इसके साथ ही दोनों ने आश्वासन दिया कि कानूनी लड़ाई में वह परिवार की हर संभव मदद करेंगे. चेक पर पीड़िता के पिता का नाम है.

पीड़िता के भाई ने कहा कि प्रियंका गांधी और राहुल गांधी की ओर से आर्थिक सहायता का एक चेक दिया गया है. हमें जो भी पैसा देगा वो मंजूर है. सीएम योगी ने भी जो दिया वो हमारे अकाउंट में है. कभी जरूरत पड़ेगी तो हम उसका इस्तेमाल कर सकेंगे.

पीड़िता के भाई आगे कहते हैं कि प्रियंका और राहुल गांधी ने हमें सुना और समझा. हम लोगों के साथ जो कुछ भी हुआ हमने उनको बताया. उन्होंने हमें आश्वासन दिया कि कोई भी मदद चाहिए हो तो बताना.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here