दिल्ली में सभी स्पोर्टिस कार्यक्रम रदद होने के बावजूद आखिर क्यों स्टेडियम में हो रही है बैठकें

0
40

विजय कुमार
नई दिल्ली: छत्रसाल स्टेडियम स्थिति खेल विभाग में शायद ही दिल्ली के मुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री का आदेश चलता हो। दिल्ली के चलते मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने कोरोना वायरस के कारण सभी शिक्षा संस्थान, जिम स्पोर्टस, स्टेडियमों, स्कूलों में चलने वाले खेल सेंटरों व उसमें होने वाले समस्त कोचिंग कार्यक्रमों को आयोजित करने पर रोक लगाने का निर्देश  जारी किया है।  ताकि अधिक लोगों का भी एक स्थान पर एकत्रित नहीं हो सकें। मगर छत्रसाल स्टेडियम पर यह आदेश का कोई मायना नहीं रखता। स्टेडियमों व स्कूलों में चलने वाले कोचिंग सेंटर तो बंद कर दिए गए हो। मगर उनका खेल विभाग अपने तहत आने वाले करीबन 100 से अधिक कोचों और खेल से जुडे लोगों को स्टेडियम पर बुलाकर फिटनेस करवाने पर तुला हुआ है। यहीं नहीं फिटनेस दौड के अलावा स्टेडियम के कमरें में बैठक भी हो रही है। यह बैठके किसी छोटे-छोटे ग्रुपों में ना होने की बजाए, एक साथ 100 से 150 कोचों को बिठाकर हो रही है।
छत्रसाल स्टेडियम के सूत्रों की मानें तो जिन स्टेडियमों और स्कूलों में खेलों के सेंटर खुले हुए है। उन स्टेडियमों और कोचिंग सेंटरों पर खिलाडियों की कोचिंग तो बंद कर दी गई है। मगर कोच, सहकोच व सहयोगी स्टाफ लगातार आ रहा है। लेकिन कोच, सहकोच व उसका स्टाफ अपने कोचिंग सेंटरों पर नहीं, बल्कि छत्रसाल स्टेडियम पर अपनी उपस्थिति दर्ज करवा रहा है। जिसके चलते वहां पूरे दिन के करीबन 100 से 150 से अधिक कोच व कोचिंग स्टाफ पहुंच रहा है।
ऐसे में वहां कोचों और कोचिंग स्टाफ को स्टेडियम पर एक साथ बिठाकर आला अधिकारी चर्चा करते है। बल्कि एक कमरे में 2 से 3 घंटे तक बैठक होती रहती है। ऐसी स्थिति में बैठक में मौजूदा लोगों को कोरोना वायरस फैलने का खतरा मन में बना रहता है।
सूत्रों का यह भी कहना है कि कोच तो अपने सेंटरों में भी रह सकते है। ऐसे में छत्रसाल स्टेडियम में बुलाए जाने का ओचित्य क्या है। बताया यह जा रहा है कि एक आला अधिकारी अपना रोब दिखाने के लिए ऐसा कर रहा है। इस बाबत जब स्टेडियम के एक आला अधिकारी से बात की तो उन्होंने नाम ना छापने की शर्त पर बताया कि यह सही है यहां कोचों को बुलाया कर फिटनेस के साथ बैठकें भी हो रही है। अब जब आला अधिकारी बुला रहें है तो वह क्या कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here