मेडिकल स्टाफ पर हमलों के खिलाफ लाखों डॉक्टर मनाएंगे आज काला दिवस,गृह मंत्री ने दिया सुरक्षा का भरोसा

0
5

नई दिल्ली : देशभर के डॉक्टर आज सांकेतिक रूप से विरोध प्रदर्शन करेंगे। रात 9 बजे मोमबत्ती जलाकर हिंसा के खिलाफ आवाज बुलंद करेंगे। देश के लाखों डॉक्टर इलाज के दौरान मारपीट और हिंसा करने वालों के खिलाफ सख्त कानून की मांग कर रहे हैं। आईएमए यानी इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने इसका ऐलान किया है।

गृह मंत्री अमित शाह ने बुधवार को डॉक्टरों, इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) के प्रतिनिधियों के साथ बातचीत की. इस दौरान गृह मंत्री ने उनके काम को सराहा और उन्हें सुरक्षा प्रदान करने का आश्वासन दिया. केंद्रीय गृह मंत्रालय के सूत्रों ने कहा कि वीडियो कॉनफ्रेंसिंग के जरिये डॉक्टरों से बातचीत करते हुए शाह ने कहा सरकार डॉक्टरों के साथ खड़ी है और उनकी सुरक्षा के लिए हर संभव प्रयास करेगी.

एक ओर डॉक्टर्स लोगों की जान बचाने के लिए दिन रात जुटे हुए हैं, वहीं दूसरी ओर स्वास्थकर्मियों पर हमले कम होने का नाम नहीं ले रहे, जिसे देखते हुए देश के लाखों डॉक्टर आज काला दिवस मनाएंगे। देश भर में डॉक्टरों पर हमले के विरोध में आईएमए ने सभी डॉक्टरों और अस्पतालों को बुधवार रात 9 बजे कैंडल जलाकर विरोध जताने को कहा है।

आईएमए लंबे समय से डॉक्टरों से मारपीट करने वालों के खिलाफ केंद्रीय कानून बनाने की मांग करता रहा है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने 2019 में एक ड्राफ्ट जारी कर डॉक्टरों पर हमले के आरोपी को 10 साल की जेल और 10 लाख रूपए के जुर्माने का प्रावधान भी किया था, लेकिन अभी तक ये कानून का जामा नहीं पहनाया गया है.

स्वास्थ्य मंत्रालय ने 2019 में एक ड्राफ्ट जारी कर डॉक्टरों पर हमले के आरोपी को 10 साल की जेल और 10 लाख रूपए के जुर्माने का प्रावधान भी किया था. इस ड्राफ्ट को कानून और वित्त मंत्रालय ने मंजूरी दे दी थी, लेकिन मामला गृह मंत्रालय ने अटका दिया था. उसका कहना था कि अलग से कानून नहीं बनाया जा सकता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here